दक्षिण भारत यात्रा: पट्टडकल - विश्व विरासत स्थल

February 24, 2019


11 फरवरी 2019
पट्टडकल एक ऐसा विश्व विरासत स्थल है, जिसका नाम हम भारतीयों ने शायद सबसे कम सुना हो। मैंने भी पहले कभी सुना था, लेकिन आज जब हम पट्टडकल के इतना नजदीक बादामी में थे, तो हमें इसकी याद बिल्कुल भी नहीं थी। इसकी याद बाई चांस अचानक आई और हम पट्टडकल की तरफ दौड़ पड़े।

सूर्यास्त होने वाला था और टिकट काउंटर से टिकट लेने वाले हम आखिरी यात्री थे। हालाँकि हम यहाँ की स्थापत्य कला को उतना गहराई से नहीं देख पाए, क्योंकि उसके लिए गहरी नजर भी चाहिए। हमें स्थापत्य कला में दिलचस्पी तो है, लेकिन उतनी ही दिलचस्पी है जितनी देर हम वहाँ होते हैं। वहाँ से हटते ही सारी दिलचस्पी भी हट जाती है और फिर दो-चार और भी स्थानों की खासियत मिक्स हो जाती है।

“मैं स्थापत्य कला के क्षेत्र में एक दिन कोई बड़ा काम जरूर करूँगा” - यह वादा मैं पिछले दस सालों से करता आ रहा हूँ और तभी करता हूँ, जब ब्लॉग लिखना होता है और शब्द नहीं सूझते।


पट्टडकल वैसे तो अपने आप में एक पूरी दुनिया है, लेकिन आज हम आपको उस दुनिया के केवल चुनिंदा फोटो ही दिखाने वाले हैं।


पट्टडकल मंदिर समूह

















Video





आगे पढ़िए: क्या आपने हम्पी देखा है?

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

2 Comments

Write Comments
February 24, 2019 at 10:03 PM delete

बादामी के समकक्ष है

Reply
avatar