Thursday, March 22, 2018

फोटो-यात्रा-13: एवरेस्ट बेस कैंप - फंगा से गोक्यो

इस यात्रा के फोटो आरंभ से देखने के लिये यहाँ क्लिक करें
23 मई 2016
आज हम धरती के सबसे खूबसूरत स्थानों में से एक पर थे - गोक्यो झील पर।
“हिमालय में 4000 मीटर से ऊपर वाली सभी झीलें बेहद खूबसूरत होती हैं। मुझे ऐसी झीलें बहुत आकर्षित करती हैं। फिर गोक्यो में तो पाँच झीलें हैं।”
“अपनी-अपनी रजाइयों में पड़े हुए यही महसूस करते रहे कि इतने दिनों बाद - आठ दिनों की ट्रैकिंग के बाद - हमने एक पड़ाव पा लिया है। गोक्यो झील इस यात्रा का एक अहम पड़ाव था। बेसकैंप केवल एवरेस्ट के कारण प्रसिद्ध है, लेकिन असली नैसर्गिक सुंदरता तो झीलों में ही होती है। वह यहाँ आकर पता भी चल रहा था।”

एवरेस्ट बेस कैंप ट्रैक पर आधारित मेरी किताब हमसफ़र एवरेस्ट का एक अंश। किताब तो आपने पढ़ ही ली होगी, अब आज की यात्रा के फोटो देखिये:




फंगा में स्वादिष्ट नाश्ता... 100-100 रुपये की चाय और 400 रुपये के फ्राइड पोटैटो... फिर भी यह अपेक्षाकृत सस्ता था नाश्ते के बाकी विकल्पों के मुकाबले...

फंगा में रात हम यहीं रुके थे... फ्री में

गोक्यो जाता रास्ता और बगल में दूधकोसी नदी

पीछे मुड़कर देखते हैं तो थमसेरकू दिखती है

फंगा से इस पुल तक चढ़ाई है, इसके बाद समतल-सा ही है... यहीं बगल में नगोजुंपा ग्लेशियर है...


गोक्यो झीलों से आता पानी पुल पार करते ही दूधकोशी में मिल जाता है...


गोक्यो की पहली झील




दूसरी झील






और यह है तीसरी झील। इसी के किनारे होटल बने हैं। झील के उस तरफ गोक्यो-री है और उस पर जाती पगडंडी भी दिख रही है।

हम नीली छत वाले होटल में ठहरे थे - झील के एकदम किनारे।

झील के उस तरफ के पहाड़ों में कहीं रेंजो-ला दर्रा है।



कमरे की खिड़की से बाहर का नज़ारा

और दीप्ति हाई एल्टीट्यूड सिकनेस की चपेट में थी।

बादल आने पर झील का दूसरा किनारा दिखना बंद हो जाता है।






डाइनिंग रूम में...






अगला भाग: फोटो-यात्रा-14: गोक्यो और गोक्यो-री

5 comments:

  1. गुरुडोंगमार, चोलामु, ग्रीन लेक....ये सब 5000 मीटर से ज्यादा ही है।

    ReplyDelete
  2. सभी फोटो लाजवाब सरजी

    ReplyDelete
  3. अम्बानी से भी बड़ा मकान बना लिया। गजब फोटो।

    ReplyDelete