Thursday, February 8, 2018

फोटो-यात्रा-2: एवरेस्ट बेस कैंप - काठमांडू आगमन

इस यात्रा के फोटो आरंभ से देखने के लिये यहाँ क्लिक करें
12 मई 2016
इस पूरी यात्रा पर आधारित किताब हमसफ़र एवरेस्ट में आपने पढ़ ही लिया होगा कि आज हम परासी से चलकर शाम होने तक काठमांडू पहुँच गये थे और दिल्ली के एक मित्र की बदौलत ठमेल में अच्छे होटल में रुके थे। रास्ते में नारायणगढ़ भी मिला, जहाँ गंडकी नदी पार की। सप्त गंडकी के नाम से प्रसिद्ध ये सात नदियाँ हैं, जो हिमालय में अलग-अलग स्थानों से निकलती हैं और अलग-अलग ही स्थानों पर आपस में मिलकर नारायणगढ़ में पहाड़ छोड़कर मैदान में आ जाती हैं। यही गंडकी नदी भारत में गंडक कहलाती है।
तो चलिये, बहुत लिख दिया। अब फोटो देखते हैं:



परासी से आगे का रास्ता


चोरमारा में एक भारतीय की दुकान पर स्वादिष्ट नाश्ता


नारायणगढ़ पुल पर... 

नारायणगढ़ से काठमांडू की सड़क पहाड़ों में घुस जाती है और ज्यादा ट्रैफिक के कारण अक्सर जाम ही लगा रहता है...

नारायणगढ़ के पास काली गंडकी और सेती गंडकी का संगम...


रास्ते में मिली गुजरात परिवहन की बस...

मनकामना मंदिर जाने का रास्ता... जो दर्जा भारत में वैष्णों देवी मंदिर को है, वही दर्जा नेपाल में इसे है...


मछलियाँ हैं... सूखी हैं या भुनी हैं, मुझे इससे मतलब नहीं...

दुनिया की चालबाजियों से दूर होते हैं बच्चे...


अगला भाग: फोटो-यात्रा-3: एवरेस्ट बेस कैंप - पशुपति दर्शन और आगे प्रस्थान



3 comments:

  1. वाह सभी फोटो शानदार

    ReplyDelete
  2. पुस्तक तो पढ़ ली है।अब फोटो के साथ साथ बेसकैंप घूम लेंगे।

    ReplyDelete