जयपुर का जंतर मंतर

February 20, 2011
इस यात्रा वृत्तान्त को आरम्भ से पढने के लिये यहां क्लिक करें
जयपुर वाला जंतर मंतर हवामहल के पास ही है। हवामहल की ऊपरी मंजिल से यह दिखता भी है।
जंतर मंतर महाराजा जयसिंह द्वितीय के काल में बनवाया गया था। शायद उन्होंने ही दिल्ली में भी बनवाया था। दिल्ली वाला अपना देखा हुआ नहीं है। बताते हैं कि जयपुर वाला जंतर मंतर ज्यादा विशाल है।
यहां विदेशियों का आगमन बहुत ज्यादा होता है। और वे इसकी गणितीय गणनाओं में दिलचस्पी भी लेते हैं। इसलिये उन गणनाओं को समझाने के लिये यहां गाइडों की भरमार है। हमारे लिये तो जंतर मंतर की ‘इमारतें’ फोटू खींचने की जगहें हैं।



उन्नतांश यंत्र

दक्षिणोत्तर भित्ति यंत्र
वृहत सम्राट यंत्र

सभी राशियों के लिये राशि वलय यंत्र



नाडीवलय यंत्र

राम यंत्र


यहां विदेशियों की भरमार रहती है।
उस दिन एक देशी जाट भी था। शर्ट बदल ली है।

अगला भाग: सिटी पैलेस, जयपुर

जयपुर यात्रा
1. जयपुर यात्रा-आमेर किला
2. जयपुर की शान हवामहल
3. जयपुर का जन्तर मन्तर
4. सिटी पैलेस, जयपुर
5. नाहरगढ किला, जयपुर

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

15 Comments

Write Comments
February 20, 2011 at 8:18 AM delete

suder chitra
mushafir ho yaro
na dar he na thikana

Reply
avatar
February 20, 2011 at 8:52 AM delete

नीरज,

आपकी घुमक्कड़ी वाली पोस्टें मुझे इसलिए पसंद हैं क्योंकि आप लिखने से ज्यादा तस्वीरों का इस्तेमाल करते हैं. अपनी तो घर बैठे ही सारी घुमक्कड़ी हो जाती है. वैसे सच कहूँ तो आपकी पोस्टें देखकर मेरे मन में तो ईर्ष्यावश एक ही ख्याल आता है की प्यारे घूम लो जब गृहस्थी के कोल्हू में जुतोगे तो हमारी तरह एक ही जगह पर मिलोगे.

Reply
avatar
February 20, 2011 at 1:48 PM delete

इस स्थान पर कई बार गया हूँ। यह हमेशा आकर्षित करता है।

Reply
avatar
February 20, 2011 at 5:55 PM delete

हमें तो देशी ही ज्यादा पसंद है, जाट भी और खाट भी:)

खूबसूरत तस्वीरें और शानदार पोस्ट, हमेशा की तरह।

जुटया रह छोरे घुमक्कड़ी में. जद तक ’नून तेल लाकड़ी’ ते बच रया है।

Reply
avatar
February 20, 2011 at 10:07 PM delete

बहुत खुद यहां तो सारे ही फ़िरंगी दिख रहे हे, चित्र बहुत सुंदर राम राम

Reply
avatar
February 21, 2011 at 11:41 AM delete

बधाई! शर्ट बदल ली आपने :)

प्रणाम

Reply
avatar
February 21, 2011 at 12:14 PM delete

वाह, वाह गुरु , आपने तो सारे ही चित्र एक-एक कर खूबसूरती से उतारे !

Reply
avatar
February 21, 2011 at 3:26 PM delete

अभी भी वैसा का वैसा है जैसा बरसों पहले था...बहुत गज़ब है ये जंतर मंतर...
नीरज

Reply
avatar
February 22, 2011 at 8:02 PM delete

खूबसूरत तश्वीरें। आपकी घुमक्कड़ी देख कर कुछ-कुछ होता है।

Reply
avatar
February 24, 2011 at 8:04 AM delete

आप अच्छे फोटोग्राफर भी बनते जा रहे हैं।

Reply
avatar
February 27, 2011 at 4:16 PM delete

आपका संग्रह दिनों दिन विशाल होता जा रहा है | शुभकामनाये |

Reply
avatar
July 2, 2011 at 12:56 AM delete

बहतु अच्छी तस्वीरें ओर जानकारी .

Reply
avatar
March 27, 2012 at 11:10 PM delete

घर बैठे सुन्दर दृश्य दिखाने के लिऐ धन्यवाद ।

Reply
avatar
April 8, 2013 at 10:29 PM delete

शायद जंतर मंतर का रास्ता हवामहल के आगे से बाज़ार होते हुए जाता है, बहुत पहले गया था इसलिए पक्का मालूम नहीं है

Reply
avatar