Header Ads

लद्दाख साइकिल यात्रा- बीसवां दिन- मटायन से श्रीनगर

August 30, 2013 21

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 23 जून 2013 पौने आठ बजे मैं चलने को तैयार हो गया। खाने का अगला ठिकाना सोनमर्ग ...

लद्दाख साइकिल यात्रा- उन्नीसवां दिन- शम्शा से मटायन

August 28, 2013 27

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 22 जून 2013 सुबह उठा तो बच्चों ने घेर लिया। पानी का मग्गा लाकर पकडा दिया। न चा...

लद्दाख साइकिल यात्रा- अट्ठारहवां दिन- मुलबेक से शम्शा

August 26, 2013 34

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 21 जून 2013 हमेशा की तरह आराम से सोकर उठा। आज आराम कुछ भारी पड सकता है क्योंकि...

लद्दाख साइकिल यात्रा- सत्रहवां दिन- फोतूला से मुलबेक

August 23, 2013 13

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 20 जून 2013 यहां कोई पेड वेड तो थे नहीं कि टैण्ट पर छांव पड रही हो। जब सूरज नि...

लद्दाख साइकिल यात्रा- सोलहवां दिन- ससपोल से फोतूला

August 21, 2013 17

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 19 जून 2013 चूंकि नौ बजे ससपोल से चल पडा तो इसका अर्थ है कि साढे सात बजे उठ भी...

लद्दाख साइकिल यात्रा- पन्द्रहवां दिन- लेह से ससपोल

August 19, 2013 15

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 18 जून 2013 नौ बजे सोकर उठा। उठने के मामले में कभी जल्दबाजी नहीं की। रात शानदा...

लद्दाख साइकिल यात्रा- चौदहवां दिन- उप्शी से लेह

August 14, 2013 12

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 17 जून 2013 सात बजे आंख खुली। देखा उसी कमरे में कुछ लोग और भी सोये हुए हैं। पत...

लद्दाख साइकिल यात्रा- तेरहवां दिन- तंगलंग-ला से उप्शी

August 12, 2013 13

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 16 जून 2013 सात बजे आवाजें सुनकर आंख खुली। थोडे से खुले दरवाजे से बाहर निगाह ग...

लद्दाख साइकिल यात्रा- बारहवां दिन- शो-कार मोड से तंगलंग-ला

August 09, 2013 13

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 15 जून 2013 साढे सात बजे आंख खुली। ध्यान दिया कि तम्बू चू रहा है, वो भी कई जगह...

शो-कार (Tso Kar) झील

August 07, 2013 12

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । शाम चार बजे शो-कार के लिये चल पडा। पहले तो मामूली सी चढाई है, उसके बाद मामूली ...

लद्दाख साइकिल यात्रा- ग्यारहवां दिन- पांग से शो-कार मोड

August 05, 2013 23

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 14 जून 2013 सुबह साढे सात बजे आंख खुली। दोनों होटल संचालिकाओं ने जुले कहकर नये...

लद्दाख साइकिल यात्रा- दसवां दिन- व्हिस्की नाले से पांग

August 02, 2013 16

इस यात्रा वृत्तान्त को शुरू से पढने के लिये यहां क्लिक करें । 13 जून 2013 स्थान- व्हिस्की नाला। एक और नाला है ब्राण्डी नाला। कहते हैं यहां व...

Powered by Blogger.