Monday, January 30, 2017

कुलधरा: एक वीरान भुतहा गाँव

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
18 दिसंबर 2016
कुलधरा - पता नहीं आपने इस स्थान का नाम सुना है या नहीं, लेकिन मैं मानता हूँ कि सुना भी होगा और देखा भी होगा। जैसलमेर से ज्यादा दूर नहीं है और सम जाने के रास्ते से थोड़ा-सा ही हटकर है।
जब हम वहाँ पहुँचे तो पाँच बज चुके थे और जल्दी ही सूरज छिपने वाला था। यह मरुभूमि को देखते हुए काफ़ी बड़ा गाँव था और इसे योजनाबद्ध तरीके से बसाया गया था। गाँव के अंदर सीधी सड़कें इसकी पुष्टि करती हैं। फिर किसी कारण से यह उजड़ गया और अब यहाँ कोई नहीं रहता। कोई कहता है कि इसका कारण पानी की तंगी था, कोई कहता है कि जैसलमेर के किसी वज़ीर के कारण उजड़ा और ज्यादा मान्यता है कि यह शापित और भुतहा है।

Thursday, January 26, 2017

धनाना में ऊँट-सवारी

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
18 दिसंबर 2016
जब हम धनाना से लौट रहे थे और दो-तीन किलोमीटर ही चले थे, देखा कि सामने से एक ऊँटवाला अपने ऊँट पर बैठा आ रहा था। सुमित हमेशा की तरह हमसे आगे था। सुमित ने बाइक रोक ली और उसके फोटो लेने लगा। ऊँटवाला और ऊँट दोनों मँजे हुए खिलाड़ी की तरह ‘पोज़’ दे रहे थे। कभी सड़क के दाहिनी तरफ़ आ जाते, कभी बायीं तरफ़ और कभी सड़क घेरकर खड़े हो जाते तो कभी सड़क से नीचे उतर जाते। वे जानते थे कि किस तरह खड़े होना है ताकि अच्छे फोटो आयें।
ऊँटवाले का नाम मुबारक अली था और ये धनाना के रहने वाले थे। इनके पास कई ऊँट हैं और सभी ऊँट और बेटे सम में काम करते हैं - पर्यटकों को ऊँट-सवारी कराने का काम। इनके बाकी सभी ऊँट सम जा चुके हैं। दो ऊँटों को इनका एक बेटा थोड़ी देर पहले ही यहाँ से सम लेकर गया है। कल यह भी सम जायेगा।

Monday, January 23, 2017

धनाना: सम से आगे की दुनिया

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
18 दिसंबर 2016
जब हम गूगल मैप में जैसलमेर से सम की सड़क देखते हैं, तो इस पर लिखा आता है - जैसलमेर-सम-धनाना रोड़। ज़ाहिर है कि इसी सड़क पर सम से भी आगे कहीं धनाना है। गौर से देखें तो यह सड़क आगे भारत-पाक सीमा तक जाती है। मतलब कहीं न कहीं बी.एस.एफ. वाले बैठे होंगे ताकि आम नागरिक सीमा तक न जा सकें। मेरी इच्छा उस बैरियर तक जाने की थी। पता नहीं वो बैरियर कहाँ होगा। इंटरनेट पर भी इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी। इसके बाद ज्यादा ध्यान देकर सैटेलाइट इमेज देखीं तो पता चला कि हरनाऊ तक और उससे भी आगे तक पक्की सड़क बनी हुई है। यह सड़क पश्चिम में होती हुई उत्तर में मुड़ जाती है और आगे लोंगेवाला जा पहुँचती है और 150 किलोमीटर से भी ज्यादा लंबी है। लेकिन बीच में 14 किलोमीटर का छोटा-सा टुकड़ा कच्चा दिख गया। शायद यह सैटेलाइट इमेज दो साल पुरानी हो, शायद अब उस 14 किलोमीटर में पक्की सड़क बन गयी हो, लेकिन यह तय कर लिया कि भले ही सम से आगे 100 किलोमीटर निकलकर वापस सम लौटना पड़े, लेकिन किसी भी हालत में उस कच्चे रास्ते पर बाइक नहीं चलायेंगे।

Thursday, January 19, 2017

राष्ट्रीय मरु उद्यान - डेजर्ट नेशनल पार्क

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
18 दिसंबर 2016
इस नेशनल पार्क से हमारा सामना अचानक अपने आप ही हो गया। असल में हमारी योजना थी - मुनाबाव से तनोट जाना। सीधा रास्ता है जैसलमेर के रास्ते जाओ। लेकिन मैं चाहता था कि सीमा के नज़दीक-नज़दीक ही रहें। एक सड़क म्याजलार से पश्चिम में जाती है और आगे सम के पास कहीं जाकर निकलती है। इसका और अन्य कई सड़कों का मैंने सैटेलाइट से अच्छी तरह अध्ययन किया। चूँकि इंटरनेट पर इस इलाके के बारे में, इसकी सड़कों के बारे में कुछ भी जानकारी उपलब्ध नहीं थी, सैटेलाइट इमेज पर भरोसा करके तय कर लिया था कि इस सड़क से पश्चिम में जायेंगे। यह कच्ची सड़क नहीं थी और सैटेलाइट से देखने पर काली लकीर स्पष्ट दिख रही थी, जिससे इतना तो पक्का हो गया कि एक साल पहले तक या दो साल पहले तक यहाँ पक्की सड़क थी। गूगल में सैटेलाइट इमेज एक-दो साल पुरानी होती हैं। ट्रैफिक नहीं होता और बारिश नहीं होती, इसलिये सड़क ख़राब होने की कोई संभावना नहीं।

Monday, January 16, 2017

खुड़ी - जैसलमेर का उभरता पर्यटक स्थल

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
17 दिसंबर 2016
एक घंटे में ही म्याजलार से 56 किलोमीटर दूर खुड़ी आ गये। यहाँ से जैसलमेर लगभग 50 किलोमीटर है। खुड़ी अपने रेत के टीलों के लिये प्रसिद्ध है। चारों तरफ़ टैंट कालोनियाँ ही थीं। अब हम फिर से ‘सभ्यता’ में आ गये थे। अगर हम यहाँ अपने टैंट लगाते, तो किसी भी तरह की परेशानी की बात नहीं थी। यहाँ खूब पर्यटक आते हैं और खुड़ी वालों के लिये हमारे टैंट असामान्य नहीं होते। लेकिन मैं इरादा कर चुका था कि अपना टैंट नहीं लगाना। थोड़े-बहुत पैसे खर्च होंगे, लेकिन नर्म बिस्तर पर पैर फैलाकर सोने की सुविधा होगी, हगने-मूतने की सुविधा होगी और ‘प्राइवेसी’ होगी। टैंट तो आपातकाल के लिये होते हैं। सुमित के लिये टैंट नयी चीज थी, इसलिये वह टैंट ही लगाना चाहता था, लेकिन उसने भी हमारा साथ दिया।
एक रिसॉर्ट वाले के यहाँ बात की। जानते थे कि ये बहुत महँगे होते हैं, फिर भी बात कर ली।

Thursday, January 12, 2017

थार के सुदूर इलाकों में : किराडू - मुनाबाव - म्याजलार

इस यात्रा वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
17 दिसंबर 2016
किराडू से साढ़े ग्यारह बजे चले। अगला लक्ष्य था मुनाबाव में भारत-पाक सीमा देखना। सड़क सिंगल है, लेकिन ट्रैफिक न होने के कारण कोई दिक्कत नहीं होती। कभी-कभार कोई ट्रक या कोई जीप सामने से आ जाती।
रामसर एक बड़ा गाँव है। अच्छी चहल-पहल थी।
गड़रा रोड़ से दो किलोमीटर पहले सड़क किनारे लगे एक सूचना-पट्ट पर निगाह गयी - “शहीद स्मारक लोको पायलट, 1965 भारत पाक युद्ध।” तुरंत बाइक रोकी और मुख्य सड़क से लगभग 100 मीटर दूर रेलवे लाइन के किनारे ले गये। यहाँ एक स्मारक बना है। गौरतलब है कि 1965 के भारत-पाक युद्ध में कश्मीर से लेकर गुजरात तक लड़ाई छिड़ी हुई थी। इतनी लंबी सीमा में कभी भारतीय सेना पाकिस्तान के अंदर जाकर कब्जा कर लेती, तो कभी पाकिस्तानी सेना भारत के अंदर। मुनाबाव रेलवे स्टेशन पाकिस्तान के कब्जे में आ गया था। उसी दौरान बाड़मेर से मुनाबाव जाती एक ट्रेन पर 10 सितंबर की रात साढ़े दस बजे गड़रा रोड़ के पास पाकिस्तान ने निशाना साधा। इसके गार्ड़ और फायरमैन समेत कई कर्मचारी शहीद हो गये। थोड़ा आगे इंजीनियरिंग स्टाफ का शहीद स्मारक भी है।

Monday, January 9, 2017

किराडू मंदिर - थार की शान

इस यात्रा वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
17 दिसंबर 2016
सूरज की पहली किरण निकलने से पहले ही हमने टैंट उखाड़कर पैक कर लिये थे। हम नहीं चाहते थे कि उत्सुक ग्रामीण यहाँ आयें और पूछताछ करें। थोड़े-से फोटो खींचे और निकल पड़े।
बाड़मेर बाईपास पर एक जगह चाय-नाश्ता किया और मुनाबाव वाली सड़क पर चल दिये। सीमा सड़क संगठन द्वारा लगाया गया हरे रंग का बोर्ड़ कह रहा था - “प्रोजेक्ट चेतक बाड़मेर-गड़रा-मुनाबाव सड़क पर आपका स्वागत करता है।” साथ ही दूरियाँ भी लिखी थीं - मारुडी 10 किलोमीटर, जसई 20 किलोमीटर, हतमा 34 किलोमीटर, रामसर 59 किलोमीटर, गड़रा 85 किलोमीटर और मुनाबाव 125 किलोमीटर।
मारुडी में दो पेट्रोल पंप हैं। हमने टंकियाँ फुल करा लीं। आगे मुनाबाव तक या जैसलमेर तक 250-300 किलोमीटर तक कोई पेट्रोल पंप हो या न हो। बाद में पता चला कि रामसर में भी पेट्रोल पंप है और शायद गड़रा में भी।

Friday, January 6, 2017

थार बाइक यात्रा: जोधपुर से बाड़मेर और नाकोड़ा जी

इस यात्रा-वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
16 दिसंबर 2016
जोधपुर से साढ़े ग्यारह बजे चले। करा-धरा कुछ नहीं, बस पड़े सोते रहे। फिर थोड़े-से नहा लिये, थोड़ा-सा खा लिया और निकल पड़े। बाइक में इंजन ऑयल कम था। पेट्रोल पंप पर टंकी फुल करायी तो इंजन ऑयल की एक बोतल भी ले ली। आगे एक मिस्त्री के पास गये तो पता चला कि मालिक थोड़ी देर में आयेगा, तब तक हमें प्रतीक्षा करनी पड़ेगी। उस समय तक मुझे नहीं मालूम था कि बाइक में बचा हुआ इंजन ऑयल निकालकर नया ऑयल डालना पड़ेगा। मैंने सोचा कि जितना कम है, उतना डाल देते हैं। वहीं एक आदमी ने इसे डाल दिया। डालने के बाद कहने लगा कि आपको ऑयल रिप्लेस कराना चाहिये था। मैंने कहा - अरे डाला भी तो तुमने ही है। पहले ही क्यों नहीं कहा कि रिप्लेस होता है? बाद में सुमित ने भी ऐसा कहा, लेकिन बाड़मेर पहुँचने पर - ‘नीरज, तुम तो मैकेनिकल इंजीनियर हो। क्या तुम्हें पता नहीं है कि इंजन ऑयल रिप्लेस होता है?’ मैं चिड़चिड़ा-सा हो गया - ‘ओये, तुम भी तो वहीं खड़े थे। उसी समय क्यों नहीं टोका? और अब क्यों टोक रहे हो?’
सुमित ने कहा - ‘मैंने सोचा कि तुम इंजीनियर हो। तुम्हें पता ही होगा।’
‘अरे तुम भी तो डॉक्टर हो। फिर दाँत का इलाज क्यों नहीं करते? क्यों मरीजों को डेंटिस्ट के पास भेजते हो?’

Wednesday, January 4, 2017

थार बाइक यात्रा - एकलिंगजी, हल्दीघाटी और जोधपुर

इस यात्रा वृत्तांत को आरंभ से पढ़ने के लिये यहाँ क्लिक करें
15 दिसंबर 2016
शक्ति सिंह दुलावत अपने एक मित्र के साथ सुबह-सुबह ही उदयपुर से आ गये। साथ में ढेर सारा नाश्ता - मेरा पसंदीदा और दीप्ति का ना-पसंदीदा ढोकला भी। अब बड़ी देर तक और बड़ी दूर तक कुछ भी खाने की आवश्यकता नहीं।
एकलिंगजी में भगवान शिव का मंदिर है। यह मेवाड़ के राजाओं की निजी संपत्ति है। फोटो खींचना वर्जित है। लेकिन आठवीं शताब्दी में बने छोटे-बड़े 108 मंदिर मूर्तिकला से भरपूर हैं। मन करता है कि इन्हें देखते रहो और फोटो खींचते रहो। फोटो नहीं खींच सकते, लेकिन देख तो सकते ही हैं।
जिनका भी यह मंदिर है, उनसे मेरी प्रार्थना है कि भले ही थोड़ी-बहुत राशि ले लिया करें, लेकिन फोटोग्राफी होने दो यहाँ। फोटो खींचने से भक्तिभाव में कमी नहीं आती - यक़ीन मानिये। और जिनमें भक्तिभाव नहीं है, उनमें प्रतिबंध लगाकर यह पैदा भी नहीं की जा सकती।
फोटोग्राफी रोकने के लिये चप्पे-चप्पे पर गार्ड़ तैनात रहते हैं।

Monday, January 2, 2017

थार बाइक यात्रा - भागमभाग

यह जो सुमित है ना इंदौर वाला ... इसका ऑफ़ सीजन हो जाता है सर्दियों में ... कोई बीमार नहीं पड़ता ... बीमार पड़ता भी है तो सर्दी-जुकाम ही होते हैं ... मेडिकल स्टोर से ले आते हैं दवाई ... डॉक्टर के पास जाने की ज़रुरत ही नहीं पड़ती ... मतलब सर्दियों में कोई सुमित के क्लीनिक नहीं आता ... इसके पास मक्खियाँ तक नहीं होतीं मारने को ...
तब इसे सूझती है खुराफ़ात ... घुमक्कड़ी की खुराफ़ात ... कहने लगा थार जाऊँगा ... बाइक से ... दिसंबर में ... मैंने मना किया ... रहने दे भाई ... मुझे जनवरी में अंड़मान जाना है ... दिसंबर में मुश्किल हो जायेगी ... और अगर दिसंबर में छुट्टियाँ मिल गयीं तो जनवरी में मुश्किल होगी ... बोला ... नहीं मानूँगा ... हमने भी कह दिया ... नहीं मानेगा तो ठीक ... चलेंगे हम भी ... 12 तारीख़ को ईद थी ... खान साहब मेहरबान हो गये ... बिना झगड़े छुट्टियाँ मिल गयीं ... और हमारी बाइक पर सारा सामान लद गया ...
दीप्ति को ... मतलब निशा को ... मतलब पिछले साल तक वह निशा थी ... अब के बाद उसे उसके वास्तविक नाम दीप्ति से पुकारा करेंगे ... तो दीप्ति को वसंत विहार जाना पड़ गया ... बहुत सारे काम होते हैं ... उसका मायका है वहाँ ... एक काम बैंक से पैसे निकालना भी था ... रास्ते में पैसे ख़त्म हो गये तो कहीं ए.टी.एम. की लाइन में थोड़े ही खड़े होंगे?

Sunday, January 1, 2017

रेलयात्रा सूची: 2017

2005-2007 | 2008 | 2009 | 2010 | 2011 | 2012 | 2013 | 2014 | 2015 | 2016 | 2017

क्रम संकहां सेकहां तकट्रेन नंट्रेन नामदूरी
(किमी)
कुल दूरीदिनांकश्रेणीगेज
1दिल्लीहावड़ा12312कालका हावड़ा मेल144115388116/01/2017सेकंड़ एसीब्रॉड़
2हावड़ादिल्ली12311हावड़ा कालका मेल144115532224/01/2017सेकंड़ एसीब्रॉड़
3दिल्लीगाज़ियाबाद14312आला हज़रत एक्स2015534207/03/2017शयनयानब्रॉड़
4गाज़ियाबादसाहिबाबाद64471ईएमयू615534807/03/2017साधारणब्रॉड़
5साहिबाबाददिल्ली शाहदरा64151ईएमयू815535607/03/2017साधारणब्रॉड़
6दिल्लीकरनाल14011दिल्ली होशियारपुर एक्स12315547908/03/2017शयनयानब्रॉड़
7करनालसब्जी मंडी12414पूजा एक्स12015559909/03/2017साधारणब्रॉड़
8हज़रत निज़ामुद्दीनवडोदरा12904स्वर्ण मंदिर मेल98515658414/03/2017शयनयानब्रॉड़
9वडोदराअहमदाबाद19017सौराष्ट्र जनता एक्स10015668415/03/2017साधारणब्रॉड़
10अहमदाबादरणुज52914अहमदाबाद रणुज पैसेंजर13315681715/03/2017साधारणमीटर
11रणुजकलोल52913रणुज अहमदाबाद पैसेंजर10615692315/03/2017साधारणमीटर
12अहमदाबादजेतलसर22957सोमनाथ एक्स32415724715/03/2017शयनयानब्रॉड़
13जेतलसरढसा52931जेतलसर ढसा पैसेंजर10415735116/03/2017साधारणमीटर
14ढसावेरावल52930ढसा वेरावल पैसेंजर19015754116/03/2017साधारणमीटर
15जुनागढ़देलवाड़ा52952जुनागढ़ देलवाड़ा पैसेंजर16015770117/03/2017साधारणमीटर
16देलवाड़ाऊना52951देलवाड़ा जुनागढ़ पैसेंजर615770717/03/2017साधारणमीटर
17भावनगर पराबोटाद59204भावनगर सुरेंद्रनगर पैसेंजर8915779618/03/2017साधारणब्रॉड़
18बोटादगांधीग्राम52940बोटाद गांधीग्राम पैसेंजर15415795018/03/2017साधारणमीटर
19अहमदाबादमहेसाना19027विवेक एक्स6715801718/03/2017साधारणब्रॉड़
20महेसानाआंबलियासन79432महेसाना अहमदाबाद डीएमयू1715803419/03/2017साधारणब्रॉड़
21आंबलियासनविजापुर79486रेलबस4115807519/03/2017साधारणमीटर
22कलोलअहमदाबाद19032योगा मेल4915812419/03/2017साधारणब्रॉड़
23अहमदाबाददिल्ली सराय रोहिल्ला12915आश्रम एक्स92915905319/03/2017शयनयानब्रॉड़
24नई दिल्लीफ़िरोज़पुर छावनी12137पंजाब मेल38615943912/04/2017शयनयानब्रॉड़
25फ़िरोज़पुर छावनीहुसैनीवाला
मेला स्पेशल815944713/04/2017साधारणब्रॉड़
26हुसैनीवालाफ़िरोज़पुर छावनी
मेला स्पेशल815945513/04/2017साधारणब्रॉड़
27फ़िरोज़पुर छावनीदिल्ली किशनगंज12138पंजाब मेल38215983713/04/2017शयनयानब्रॉड़
28दिल्लीधनबाद12312कालका हावड़ा मेल119316103018/04/2017थर्ड एसीब्रॉड़
29धनबादराँची53335धनबाद राँची पैसेंजर16716119719/04/2017साधारणब्रॉड़
30राँचीआनंद विहार टर्मिनल12817झारखंड़ एक्सप्रेस130316250019/04/2017थर्ड एसीब्रॉड़
31हज़रत निज़ामुद्दीनरायपुर22868हमसफ़र एक्सप्रेस124016374003/05/2017थर्ड एसीब्रॉड़
32केन्द्रीअभनपुर58711केन्द्री-धमतरी पैसेंजर616374604/05/2017साधारणनैरो
33अभनपुरराजिम58719अभनपुर-राजिम पैसेंजर1716376304/05/2017साधारणनैरो
34राजिमअभनपुर58718राजिम-अभनपुर पैसेंजर1716378004/05/2017साधारणनैरो
35अभनपुरधमतरी58713केन्द्री-धमतरी पैसेंजर4916382904/05/2017साधारणनैरो
36रायपुरबिलासपुर18205दुर्ग-नौतनवा एक्सप्रेस11016393904/05/2017साधारणब्रॉड़
37बिलासपुरहज़रत निज़ामुद्दीन22867हमसफ़र एक्सप्रेस112916506805/05/2017थर्ड एसीब्रॉड़
38नई दिल्लीनागपुर12626केरल एक्सप्रेस109016615822/08/2017शयनयानब्रॉड़
39नागपुरवर्धा51260नागपुर-वर्धा पैसेंजर7816623623/08/2017साधारणब्रॉड़
40वर्धाअमरावती51262वर्धा-अमरावती पैसेंजर10516634123/08/2017साधारणब्रॉड़
41अमरावतीबड़नेरा51261अमरावती-वर्धा पैसेंजर1016635123/08/2017साधारणब्रॉड़
42बड़नेरामुर्तिजापुर18030शालीमार-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस4116639223/08/2017साधारणब्रॉड़
43मुर्तिजापुरअचलपुर52137मुर्तिजापुर-अचलपुर पैसेंजर7616646824/08/2017साधारणनैरो
44अमरावतीबड़नेरा51261अमरावती-वर्धा पैसेंजर1016647824/08/2017साधारणब्रॉड़
45बड़नेरासूरत18405पुरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस55416703224/08/2017शयनयानब्रॉड़
46सूरतभुसावल59075सूरत-भुसावल पैसेंजर33616736825/08/2017साधारणब्रॉड़
47भुसावलनरखेड़51183भुसावल-नरखेड़ पैसेंजर35616772426/08/2017साधारणब्रॉड़
48नरखेड़नागपुर11204जयपुर-नागपुर एक्सप्रेस8616781026/08/2017साधारणब्रॉड़
49नागपुरइटारसी51829नागपुर-इटारसी पैसेंजर29816810827/08/2017साधारणब्रॉड़
50इटारसीनई दिल्ली12627कर्नाटक एक्सप्रेस79316890127/08/2017शयनयानब्रॉड़

नोट: दूरी दो-चार किलोमीटर ऊपर-नीचे हो सकती है।
भूल चूक लेनी देनी

कुछ और तथ्य:
कुल यात्राएं: 879 बार
कुल दूरी: 168901 किलोमीटर

पैसेंजर ट्रेनों में: 47642 किलोमीटर (491 बार)
मेल/एक्सप्रेस में: 49934 किलोमीटर (253 बार)
सुपरफास्ट में: 71325 किलोमीटर (134 बार)

ब्रॉड गेज से: 162774 किलोमीटर (817 बार)
मीटर गेज से: 3668 किलोमीटर (28 बार)
नैरो गेज से: 2459 किलोमीटर (34 बार)

बिना आरक्षण के: 72864 किलोमीटर (728 बार)
शयनयान (SL) में: 76835 किलोमीटर (121 बार)
सेकंड सीटिंग (2S) में: 2592 किलोमीटर (9 बार)
थर्ड एसी (3A) में: 12367 किलोमीटर (14 बार)
एसी चेयरकार (CC) में: 1361 किलोमीटर (5 बार)
सेकंड एसी (2A) में: 2882 किलोमीटर (2 बार)

4000 किलोमीटर से ज्यादा: 1 बार
1000 से 3999 किलोमीटर तक: 25 बार
500 से 999 किलोमीटर तक:  47 बार
100 से 499 किलोमीटर तक: 324 बार
50 से 99 किलोमीटर तक (अर्द्धशतक): 280 बार

किस महीने में कितनी यात्रा
महीनापैसेंजरमेल/एक्ससुपरफास्टकुल योग
जनवरी1769206959339771
फरवरी47904697490514392
मार्च658336021004920234
अप्रैल2002295444919447
मई3053142446829159
जून1393162545337551
जुलाई42124669481313694
अगस्त8061137741801139846
सितम्बर47393072474212553
अक्टूबर60684784575816610
नवम्बर3098247518127385
दिसम्बर1874478915968259