Tuesday, March 1, 2011

नाहरगढ़ किला, जयपुर

इस यात्रा-वृत्तान्त को आरम्भ से पढने के लिये यहां क्लिक करें
सिटी पैलेस देखने के बाद समय बच गया तो हम जयगढ किला देखने निकल पडे। जब तक वहां पहुंचे तो किला बंद हो चुका था। चार साढे चार बजे के आसपास किला बंद हो जाता है। इसके पास ही नाहरगढ किला है। यह अंधेरा होने पर बंद होता है। वैसे तो जयगढ किला ज्यादा भव्य बताया जाता है लेकिन नाहरगढ भी कम नहीं है। यह एक पहाडी पर बना है। यहां से पूरे जयपुर शहर का विहंगम नजारा दिखाई देता है।
इसका निर्माण 1734 में महाराजा सवाई जयसिंह द्वितीय ने करवाया था। 1857 में यह किला आसपास के इलाकों से भागे हुए अंग्रेजों की शरणस्थली के रूप में काम आया। इसका शिल्प ज्यादा उन्नत नहीं है। लेकिन इसकी लोकेशन इसे खास बनाती है। यहां से सूर्यास्त और जयपुर शहर बडे भव्य दिखते हैं।



जयगढ किले के पास बैठे लंगूर


नाहरगढ किले में रखी तोपें

किले का प्रवेश द्वार







नाहरगढ किले से दिखता जयपुर शहर


यहां एक रेस्टोरेण्ट भी है। यह रेस्टोरेण्ट वालों का प्रोडक्ट है।








समाप्त...

जयपुर यात्रा
1. जयपुर यात्रा-आमेर किला
2. जयपुर की शान हवामहल
3. जयपुर का जन्तर मन्तर
4. सिटी पैलेस, जयपुर
5. नाहरगढ किला, जयपुर

14 comments:

  1. सुन्दर तस्वीरें.

    ReplyDelete
  2. सुन्दर तस्वीरें. नाहरगढ किले की सैर ब्लॉग पर ही कर ली .

    ReplyDelete
  3. भाई नीरज,बेठे बिठाए आपने गुलाबी शहर जयपुर की अच्छी सैर करवाई हे --नाहरगढ किला सचमुच कारीगरी का बेजोड़ नमूना हे बधाई |

    कभी मेरे ब्लोक पर भी आने का टाइम निकले और मेरा होसला आफजाई करे |

    ReplyDelete
  4. दीवार पर लटकी लालटेन , यह फोटो पसंद आई है ! बहुत बारीकी से देखते हो नीरज ! हार्दिक शुभकामनायें !!

    ReplyDelete
  5. राजस्थान प्रसिद्ध है अपने किलों के लिये।

    ReplyDelete
  6. आज ही जयपुर जा रहा हूँ, अपने घर, जिसकी छत से ये किला अपनी पूरी भव्यता के साथ नज़र आता है... बचपन में हम लोग बारिश के दिनों में नाहर गढ़ से आमेर के किले तक पहाड़ियों पर चलते हुए चले जाया करते थे...वो भी क्या दिन थे...आपकी फोटोग्राफी कमाल की है...लंगूर देखने के लिए गलता जी से श्रेष्ठ और कोई जगह नहीं है जयपुर में...आप गए थे वहां?

    नीरज

    ReplyDelete
  7. NEERAJ JI PHOTO TO NAHAR GARDH KE BAHUT ACCHE HAIN PAR APKI PHOTO EK BHI NAHIN HAIN KYON.

    ReplyDelete
  8. सचित्र सुन्दर वर्ण। शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर नीरज भाई, वो लाल सूरज वाला चित्र तो एकदम दिल को छूं गया !

    ReplyDelete
  10. बहुत ही सुंदर चित्र और विवरण दिया. शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  11. बहुत अच्छा लगा,,धन्यवाद

    ReplyDelete
  12. नीरज भाई कहां कहां घुमा रहा हे, ओर हमारा मन भी लालच मे फ़ंस रहा हे, इस्तने सुंदर विवरण पढ कर ओर सुंदर सुंदर चित्र देख कर, अब अगली बार हम ने गाईड तो तेरे को ही बनाना हे १० दिन के लिये, ओर तेरे ऊपर ही छोड देना हे कि कहा कहा घुमाना हे तुने, यह पक्का, अगर नही माना तो जबर्द्स्ती दोस्ती का वास्ता दे कर ले जायेगे.
    मजा आ गया आज ओर पिछली पोस्टे देख कर धन्यवाद

    ReplyDelete
  13. बहुत अच्छी फोटो है ..... यहाँ तो मैं भी गया हूँ.....

    ReplyDelete
  14. Jaipur to khoob dekha raha bhi khoob lekin nahargarh aaj hi es blog ke karan dekh paya

    ReplyDelete